ghamand

घमंडी लोग किसी को भी पसंद नहीं आते. पर लोगो का कहना है की में बहुत घमंडी हु हैल्लो मेरा नाम करीना है और में बिहार की रहने वाली हु. वेसे तो मुझे दोस्त बनाना अच्छा लगता है पर मेरी सब सहैली मुझसे जलते है भला जिसका फिगर इतना मस्त हो की कभी लंड की कमी ना हो मेरा बटला काफी बड़ा है और गांड भी दिखने में काफी अच्छा है जब में रोड में चलती हु तो सभी लडको की नजर मेरी और ही रहती है तो आप ही बताओ भला में घमंड क्यों न करू पर मुझे इस घमंड की बड़ी कीमत चुकानी पड़ी एक दिन में रास्ते से जा रही थी की अचानक मेरी नजर एक हट्टे कट्टे लड़के में पड़ी दिखने में वो काफी स्मार्ट था पर वो मेरी और नहीं देख रहा था में उसके पास गई और जान बुझ के एड्रेस पूछने लगी पर उसकी नजर मेरे अखो में ही थी उसे मेरे बड़े बड़े बटले में कोई इन्ट्रेस नहीं था फिर में पता पुच के जाने लगी और आगे जा कर में पलट के पीछे देखि की जरुर वो मेरा हिलता हुआ गांड देख रहा होगा पर में गलत थी वो मेरी और नहीं देख रहा था मुझे जलन होने लगी और मैने मन ही मन सोच लिया की इस लोंड़े से जरुर सेक्स करुँगी और में अपने घर चली गई. और बिस्तर में लेट के सोचने लगी की सही लड़का मिला है और उसे याद करके अपने चूत को सहलाने लगी और जब अगले दिन में जब फिर मार्केट की और गई तो वो लड़का मुझे फिर दिखा में वही पर खड़ी हो गई और अपना पर्स निचे गिरा दिया और उसे उठाने के बहाने निचे झुकी उस लड़के की नजर मेरे बटले में पड़ी वो तुरंत मेरे पास आ गया और कहने लगा मेडम क्या आप को कल वो पता मिला मैने कहा हा मिला ना पर बहुत खोजना पड़ा फिर हम दोनों थोड़ी देर तक बात चित करते रहै उस लड़के की नजर थोड़ी थोड़ी देर में मेरे बटले की और पड़ती रहती में समझ गई थी की ये तो सेट है

और फिर हम दोनों रोज मिलने लगे. एक दिन उसने कहा की आज मेरे दोस्त के रूम में आ सकते हो क्या मैने हा कर दिया में घर आके खुश हो गई की आज तो लंड मिलेगा और में अपने चूत की शेविंग करके अपनी चूत को चुदाई के लिए तयार कर ली और शाम को उसका फोन आया वो मेरे घर के आगे खड़ा हुआ था में अपने घर से बहार निकली और उसके साथ उसके दोस्त के रूम चली गई वहा और कोई भी नहीं था हम दोनों ने थोड़ी देर तक बात चित किये फिर उसने कहा की तुम दिखने में बहुत सेक्सी हो मैने कहा की हा में जानती हु और उसने मुझे अपने बाहों में लेकर किस करने लगा और मेरे बटले को अपने हाथो से दबाने लगा उसने मेरे कपडे उतार के मुझे नंगा कर दिया और मेरे दोनों पेरो को फेला कर मेरे चूत को अपने जीभ से चाटने लगा . थोड़ी देर मेरी चूत चाटने के बाद उसने अपना पेंट खोला ओप अपना मोटा लोडा मेरे मुह में डाल के मुझे चुसाने लगा में भी उसके मोटे लंड को बड़े मजे के साथ चूसने लगी उसने आधे घंटे तक मुझे चुसाया और पूरा मुठ मेरे मुह में गिरा दिया . फिर हम दोनों बेठ के बात करने लगे वो मेरे चूत में ऊँगली करने लगा मुझे भी ऊँगली कराने में बड़ा मजा आरहा था . वेसे तो में जब स्कूल में थी तब ज्यादा तर ऊँगली ही किया करती थी पर थोड़ी देर बाद उसका काला लंड फिर से खड़ा हो गया मैने अपने दोनों टांग फेला कर बिस्तर में लेट गई उसने अपना मोटा लंड मेरी चूत में रगड़ने लड़ा और धीरे धीरे मेरी चूत में अपना लोडा घुसाने लगा मुझे यु लग रहा था मानो कोई गरम सरिया मेरी चूत में डाल रा हो में दर्द से चीख उठी ह्ह्ह्यय्य्य्य आआआ तुम्हारा लंड तो मेरी जान ले ले गा उसने कहा मेरी जान तुम बस मजे लो और वो मुझे चोदने लगा उसका लोडा मेरी चूत में पूरा अंदर तक जा रहा था. मैने उससे कहा मुझे रोज इसी तरह चोदते रहना तुम्हारा लंड को में कभी नहीं भूल सकती . और फिर हम दोनों रोज नये नये स्टेप में चुदाई करते है ………

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *