gand me ungli

गांड की खुशबु मेरे पति को बहुत अच्छा लगता है वो मेरी गांड में ऊँगली करके हमेशा सूंघते रहते थे और मुझे भी अपनी गांड में ऊँगली करवना अच्छा लगता था में हमेशा उनसे कहती थी की आप बहुत अच्छे हो वो रात को 10 बजे ऑफिस से आते थे आते ही वो मुझे अपने बाहों में लेकर किस करने लगते थे और मेरी गांड में ऊँगली करते और मेरी गांड को सूंघते और चाटते थे पहले वो मुझे चोदते फिर मुह हाथ धो के खाना खाते थे रोज की यही रूटीन थी एक बार उन्हें ऑफिस के काम से 5 दिनों के लिए बहार जाना पड़ा उसने मुझसे कहा की में 5 दिनों के लिए कल सुबह ही जा रहा हु में तुम्हारी गांड की खुशबु को बहुत मिस करूँगा और उसने मेरा कपडा उपर करके मेरी गांड को चाटने लगे और उस दिन मेरे पति ने मुझे 3 बार चोदा फिर सुबह सुबह मेरी गांड सूंघ के चले गए में उन्हें बहुत मिस करने लगी जेसे तेसे 2 दिन कट गए अब मुझसे रहा नहीं गया हमारे घर में एक कुत्ता था जो अच्छे नस्ल का था में रात को उसे अपने रूम में ले आई और उस कुत्ते के लंड को छुने लगी और हिलाने लगी थोड़ी देर में कुत्ते का लंड खड़ा हो गया में सोचने लगी की क्यों न इस कुत्ते से अपनी गांड मरवा लू और में कुतिया की तरह बन गई उस कुत्ते ने तो पहले मेरी चूत और गांड को सुंघा फीर वो चाटने लगा वो कुत्ता मेरे पति से भी अच्छा मेरी चूत चाट रहा था में भी पूरी तरह से जोसिया गई फिर वो कुत्ता मेरे उपर चढ़ गया और लंड को मेरी चूत में डालने की कोसिस करने लगा पर उसका लंड मेरी चूत में नहीं जा रहा था मैने उस कुत्ते के लंड को अपने गांड के छेद में टिकाया और उस कुत्ते ने अपना लंड मेरी गांड में डाल के मेरी गांड मारने लगा मुझे बहुत मजा आ रहा था मैने पहले कभी कुत्ते से नहीं चुदवाया था इस करना मुझे और भी अच्छा लग रहा था और में मन ही मन सोव्च रही थी की जब तक मेरे पति नहि आते है इस कुत्ते से ही काम चलाना पड़ेगा पर कुत्ते से चुदवाना भी कोई बुरा नहीं था वो कुत्ता भी बहुत अच्छा चोदता था उसने मेरी गांड को आधे घंटे तक चोदा और मेरी गांड में अपना मुठ गिरा दिया अब उस कुत्ते का लंड मेरी गांड फास चुकी थी मैने जोर लगाया पर उसका लंड नहीं निकला में डर गई की कही इसका लंड हमशा तो नहीं फसा रहैगा पर थोड़ी देर बाद उसका लंड मेरी गांड से बहार निकल गया मुझे शांति मिली और में सो गई करीब रात के 3 बजे मेरी नींद खुली मेरी गांड में फिर से खुजली होने लगी मैने सोचा की अब फिर कुत्ते से चुदवाना पड़ेगा पर में मन ही मन सोच रही थी की उस कुत्ते का लंड काफी बड़ा है और वो मेरी गांड में पूरा अंदर तक डालता है मैने कुत्ते को आवाज दी वो तुरंत मेरे पास आगया मैने अपना दोनों पैर फेला दिया वो मेरा चूत चाटने लगा मैने सोच क्यों न इस बार इस कुत्ते का लंड अपनी चूत में डाला जाये और में फिर से कुतिया की तरह घुटनों में बेठ गई और कुत्ता फिर मेरे उपर चढ़ गया और मेरी चूत में अपना लंड डालने को कोशिश करने लगा मैने उसका लंड अपने हाथ में पकड़ कर अपनी चूत में टिका दिया वो मेरी चूत में अपना लंड डालने लगा तभी मेरे पति का फोन आया वो कल सुबह आने वाले थे में उस रात कुत्ते से चुदवाने के बाद सो गई सुबह मुझे महसूस हुआ की कोई मेरी गांड में ऊँगली कर रहा है मैने अपनी आंखे खोल के देखा तो सामने मेरे पति थे और वो मेरी गांड में ऊँगली कर रे थे और बोलने लगे में तुम्हे बहुत मिस किया और मेरी गांड पे अपना लंड टिका दिया और डालने लगे मैने कहा आह धीरे धीरे आह अआह और उस दिन में रात को कुत्ते से चुदवाई और सुबह सुबह मेरे पति ने आकर मेरी गांड मार दी …….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *